किसानों को खरीफ सीजन में खाद-बीज आसानी से मिले: कवासी लखमा

Share

मानसून से पूर्व नगरीय क्षेत्रों में नालियों की सफाई कराने के निर्देश
स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल के संचालन के लिए सभी तैयारियां पूर्ण की जाए

रायपुर, वाणिज्यिक कर (आबकारी), वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री तथा धमतरी जिले के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ने धमतरी जिले में विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान कहा कि किसानांे को आगामी खरीफ मौसम में खाद-बीज की दिक्कत नहीं होनी चाहिए। उन्होंने समितियों से धान का उठाव जल्द कराने और मानसून सीजन से पूर्व नगरीय क्षेत्रों में नालों की साफ-सफाई अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विकासखण्डों में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल प्रारंभ करने के लिए जल्द ही आवश्यक तैयारी की जाए। श्री लखमा ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले और चिकित्सक कोरोना महामारी को लेकर अलर्ट में रहें। खतरा अभी टला नहीं है इसलिए पहले से ज्यादा एहतियात बरतने की जरूरत है। उन्होंने बैठक में मनरेगा के तहत संचालित कार्यों एवं मजदूरी भुगतान, स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल, किसानों के लिए खाद-बीज की उपलब्धता और विकास कार्यों की समीक्षा की। 
       कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने बताया कि जिले में कोरोना से बीमार हुए मरीजों की रिकवरी दर 95 प्रतिशत और पॉजिटिविटी दर 9 प्रतिशत है। इसलिए अभी भी लोगों को सावधानी बरतते हुए भीड़-भाड़ वाले इलाके में जाने, बिना मास्क नहीं निकलने और साफ सफाई बनाए रखने की हिदायत दी जा रही, ताकि यह दर 5 प्रतिशत से नीचे चला जाए।
  मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मयंक चतुर्वेदी ने बताया कि जून तक 2021-22 में 45 करोड़ 43 लाख के लेबर बजट के लक्ष्य के विरुद्ध मजदूरी में 31 करोड़ 64 लाख 85 हजार (99 प्रतिशत) और 27 लाख रुपए सामग्री पर व्यय किया गया है। वनमंडलाधिकारी ने बताया कि तेंदूपत्ता खरीदी के 5200 मानक बोरा लक्ष्य के विरुद्ध 4805 मानक बोरा खरीदी की गई है।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *