Take a fresh look at your lifestyle.

सरकार की योजनाओं को जाॅचपरख कर पात्रों को शत्-प्रतिशत लाभान्वित कराये- संयुक्त सचिव

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

भदोही – अधिकारीगण शासन द्वारा निर्धारित भारत सरकार एवं राज्य सरकार की लाभार्थीपरक योजना से पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित कराने में अहम भूमिका निभाये, इस कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के कार्यशैली को गम्भीरता से लिया जायेगा।
उक्त निर्देश संयुक्त सचिव भारत सरकार कमरान रिजवी ने सागररायपुर में चैपाल लगाकर विभिन्न योजनाओं को रूबरू करातें हुए कार्यक्रमों की समीक्षा की। साथ ही मिशन ग्रामोद्य से ग्राम स्वरोजगार अभियान करने की पहल पर जिलाधिकारी राजेन्द्र प्रसाद/मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह की प्रशंसा की। उपस्थित लाभार्थियों से कहा कि योजनाओं को गहरायी से समझे कैसे लाभ मिलेगा, समय से जानकारी हो जाने पर विकास की नई किरण दिखेगी। मनरेगा योजना में कहा कि दक्षिण भारत में 67 प्रतिशत महिलाये कार्य करती है, तथा पुरूष बाहर कार्य करते है। जबकि यहाॅ पर महिलाओं के कार्य करने की प्रतिशत बहुत कम है, जागरूक होये और योजनाओं का लाभ ले, पुरूष महिला के कार्य करने से अच्छा जीवन यापन होगा। तथा याह भी कहे कि महिलाओं के इच्छानुसार कार्य कराने के लिए खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिया। इस अवसर पर ग्रामीणों ने पोषाहार वितरण न मिलने की शिकायत की जिसपर संयुक्त सचिव भारत सरकार ने कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिया कि शासन द्वारा निर्धारित तिथि वाईज कैम्प लगाकर पोषाहार वितरण कराये। अन्यथा सख्त कार्यवाही की जायेगी। बेसिक शिक्षा विभाग के समीक्षा के दौरान एम0डी0एम0/बेहतर शिक्षा गुणवत्ता होने पर एवं विद्यालयो का अच्छे ढ़ग से क्रियान्वयन करने पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमित कुमार सिंह की सराहना की। सरकार की योजनाओं को जाॅचोपरख कर पात्रों को शत्-प्रतिशत लाभान्वित कराये। अपने-आस पास साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देकर स्वयं सफाई करे, हम अपने ग्राम को स्वच्छ बनाने में अपनी अहम भागीदारी निभाये। उन्होने कहा कि शौचालय का शत्-प्रतिशत सदुपयोग करे, और दूसरो को भी प्रेरित करे, शौचालय का उपयोग होने से घर की बिमारिया दूर हो जायेगी। हैण्डपम्प की समीक्षा के दौरान जो रिबोर/मरम्मत योग्य हो उन्हे तत्काल ठीक कराये जाय। ग्रामीणों के बीच चैपाल लगाकर एक-एक लाभार्थियों से रूबरू होकर उनसे मिल रहे योजनाओं के बारे में जानकारी ली, इसके आलावा जिन बिन्दुओं पर समीक्षा की गयी, सम्पर्क मार्ग, खाद्यान वितरण, पशुओं का टीकाकरण, विधवा पेशन, वृद्धा पेंशन, विकलांग पेंशन, विद्युत, स्वास्थ्य, महिला हेल्पलाईन, आगनबाड़ी, आदि बिन्दुओं की अलग-अलग विभागवार समीक्षा कर सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को कमियों के प्रति आगाह किया है। निदेशक मनरेगा आर0के0सिंह ने कहा कि योजनाये तभी सफल होगी जब सबकी भागीदारी होगी। मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह ने  कि सरकार का उद्देश्य है कि जिनको योजना का लाभ नही मिला है, वंचित रह गये है उनको जागरूक करने के लिए ग्राम स्वरोजगार का कार्यक्रम चलाया जा रहा है। ताकि कोई भी लाभार्थी योजना से वंचित न हो सके। और कहा कि सुनिये, बुनिये और दस लोगो को जागरूक करिये। शौचालय का उपयोग करेगे तो प्रति वर्ष 50 हजार बिमारी की बचत होगी। तत्पश्चात् महात्मा गाॅधी रोजगार योजना के अन्तर्गत पौधरोपण बागवानी देखने पर संयुक्त सचिव ने प्रशंसा की और कहा कि अच्छे ढ़ग से तैयार कराने के निर्देश खण्ड विकास अधिकारी को दिया। साथ ही तालाब के निरीक्षण के दौरान कहा कि तालाब भरने व निकासी की समूचित व्यवस्था कराने हेतु सम्बन्धित अधिकारी को दिया। कार्यक्रम का संचालन ओ0एस0डी0 राकेश सिंह ने किया।
इस अवसर पर निदेशक मनरेगा आर0के0सिंह, मुख्य विकास अधिकारी हरिशंकर सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमित कुमार सिंह, अधिशासी अभियंता विद्युत, जल निगम, लोक निर्माण विभाग, जिला पूर्ति अधिकारी, एम0डी0एम0 समन्वयक आर0के0सिंह, श्रम विभाग के इन्द्रजीत दूबे, कौशल विकास अचल सिंह,  के आलावा अन्य विभागो के अधिकारीगण उपस्थित थे।
 जिला सूचना अधिकारी